Security tite on blossom of Operation Bluestar 16147117

0
21


आपरेशन ब्लूस्टार की बरसी पर सुरक्षा कड़ी, बडूंगर ने की शांति की अपील

आपरेशन ब्लूस्टार की बरसी को लेकर अमृतसर सहित राज्य के प्रमुख जिलों में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। वहीं एसजीपीसी अध्यक्ष बडूंगर ने सिख संगत से शांति बनाए रखने की अपील की है।

जेएनएन, अमृतसर। श्री अकाल तख्त साहिब पर सिख संगठनों द्वारा छह जून को आपरेशन ब्लूस्टार की बरसी पर घल्लूघारा दिवस (अकाल तख्त पर सैनिक कार्रवाई का दिन व मारे गए आतंकियों की बरसी) मनाए जाने की घोषणा के बाद सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। क्षेत्र में अर्ध्दसैनिक बलों की तैनाती की गई है। अर्ध्दसैनिक बलों व पुलिस जवानों ने फ्लैग मार्च भी निकाला। उधर, इस बार श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह कौम को संबोधित करेंगे या नहीं। संभावना है एसजीपीसी हालातों को देख कर मौके पर फैसला लेगी। एसजीपीसी अध्यक्ष प्रो. किरपाल सिंह बडूंगर ने भी चुप्पी साध ली है। हालांकि उन्होंने सिख संगत से समारोह के दौरान शांति बनाए रखने की अपील की है।

शिअद के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने मेहता दौरे के दौरान स्पष्ट किया कि श्री अकाल तख्त साहिब की मर्यादा के अनुसार ही कार्यक्रम होगा। वहीं अकाली दल अमृतसर के नेता हरबीर सिंह संधू ने कहा कि ऐसी कोई मर्यादा नहीं है कि जत्थेदार ही संदेश पढ़े।

एसजीपीसी के अध्यक्ष प्रो. किरपाल सिंह बडूंगर ने दमदमी टकसाल के विभिन्न ग्रुपों, अकाली दल अमृतसर के अध्यक्ष सिमरनजीत सिंह मान, दल खालसा के जत्थेदार हरचरण सिंह धामी, हरपाल सिंह चीमा व कंवरपाल सिंह बिट्टू, कुछ सिख संप्रदाओं और संगठनों के नेताओं से बैठकें की है कि छह जून का दिन शांतिमय ढंग से आयोजित किया जाए। हालांकि आधा दर्जन से अधिक संगठनों ने एसजीपीसी को स्पष्ट कर दिया है कि अगर ज्ञानी गुरबचन सिंह श्री अकाल तख्त साहिब से संबोधित करते हैं तो हो सकता है कि संगत उनको सुनना न पसंद करे।

शहीदों की आत्मिक शांति व याद को समर्पित अखंड पाठ शुरू

एसजीपीसी की ओर से छह जून को शहीदों की आत्मिक शांति व उनकी याद को समर्पित अंखड पाठ रविवार को श्री अकाल तख्त साहिब पर शुरू करवाया गया। पाठ शुरू करने की अरदास श्री अकाल तख्त साहिब के मुख्य ग्रंथी मलकीत सिंह ने की, जबकि हुकमनामा भाई सुखविंदर सिंह ने लिया। एसजीपीसी छह जून को श्री अकाल तख्त साहिब पर घल्लूघारा दिवस आयोजित करती है। कार्यक्रम को शांतिमय ढंग से समाप्त करने के लिए एसजीपीसी अध्यक्ष किरपाल सिंह बडूंगर ने विभिन्न संगठनों और जत्थेबंदियों से अपील की कि कार्यक्रम में आपसी मेलजोल को बढ़ाया जाए। उन्होंने बताया कि पाठ का भोग सुबह छह बजे डाला जाएगा।

ईशर सिंह की ओर से रखवाए अखंड पाठ का डाला भोग

संत जरनैल सिंह भिंडरावाला के पुत्र ईशर सिंह ने 2 जून को श्री हरिमंदिर साहिब स्थित शहीदों की यादगार गुरुद्वारा साहिब में छह जून की शहीदों की याद व आत्मिक शांति के लिए श्री गुुरु ग्रंथ साहिब का अखंड पाठ शुरू करवाया था। रविवार को भोग डाला गया।

यह भी पढ़ें: आतंकी हमले की फिराक में थे आइएसआइ के तीन आतंकी, गिरफ्तार


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here