Another farmer committed suicide in punjab 16429902

0
16


एक और किसान ने की खुदकुशी, सुसाइड नोट में लिखा- कैप्टन की वादाखिलाफी से दी जान

पंजाब में किसानों द्वारा खुदकुशी का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। राज्‍य के अजनाला में एक किसान ने अपनी जान दे दी। सुसाइड नोट में उसने इसका कारण कर्जमाफी ने होना बताया है।

जेएनएन, अजनाला [अमृतसर]। पंजाब में कर्ज से दबे एक और किसान ने खुदकुशी कर ली है। अजनाला के झंडेर थाना के गांव तेड़ा में एक किसान ने जहरीला पदार्थ खाकर जान दे दी। अपने सुसाइड नोट में उसने कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा कर्जमाफी के वादे को पूरा न करने से दुखी हाेकर आत्‍महत्‍या करने की बात‍ लिखी है।

मेजर सिंह नामक इस किसान ने सुसाइड नोट में लिखा कि उसने कैप्टन सरकार को वोट कर्ज माफी के वादे के कारण दिया था, लेकिन उसका कर्ज काफी अधिक हो गया है और इससे वह परेशान हो गया। किसान के पास ढाई एकड़ जमीन थी, उस पर बैंकों से उसने 11 लाख रुपये कर्ज ले रखा था।

मेजर सिंह के चचेरे भाई सुच्चा सिंह ने बताया कि वह अपने खेतों पर जा रहा था। उसने देखा कि मेजर सिंह अपने खेतों में बेसुध पड़ा है। उसके बाद वह उसे उठा कर घर ले गया, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी।  उसकी तलाशी लेने पर जेब से सुसाइड नोट मिला है।

यह भी पढ़ें: जन्‍म के समय ही हरमनप्रीत का क्रिकेट से जुड़ गया था नाता, महिला दिवस पर हुई पैदा

सुससाइड नोट में उसने लिखा है कि विधानसभा चुनाव के दौरान कैप्टन ने वादा किया था कि सरकार बनने पर किसानों का कर्ज माफ कर दिया जाएगा। इसी आश्वासन पर उसने कैप्टन को वोट दिए थे। अभी तक उसके ब्याज पर ब्याज लगा कर कर्ज कई गुना कर दिया गया है। इससे दुखी होकर आत्महत्या कर रहा है।

उधर, किरती किसान यूनियन के जिला प्रधान धनवंत सिंह खतराए कला ने कहा कि किसान मेजर सिंह की आत्महत्या के लिए कैप्टन अमरिंदर सिंह जिम्मेदार हैं, इसलिए उन पर मामला दर्ज होना चाहिए। साथ ही प्रभावित किसान का कर्ज माफ कर एक सदस्य को नौकरी मिलनी चाहिए।

यह भी पढ़ें: पंजाब सरकार विधायकों की तनख्वाह बढ़ाने की तैयारी में


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here