भाजपा नेत्री बोलीं, मुस्लिम ही क्यों सभी धर्मों की बेटियों को शगुन राशि दे केंद्र सरकार

0
18

पूर्व मंत्री व वरिष्ठ भाजपा नेत्री लक्ष्मीकांता चावला ने केंद्र सरकार द्वारा सिर्फ एक जाति विशेष की शगुन राशि देने की केंद्र की घोषणा पर सवाल उठाए। कहा यह राशि सभी को मिलनी चाहिए।

पूर्व मंत्री व भाजपा की वरिष्ठ नेता प्रो. लक्ष्मीकांता चावला ने कहा कि  केंद्र सरकार देश की मुस्लिम लड़कियों को विवाह के अवसर पर 51 हजार रुपये शगुन में देगी। सरकार का यह फैसला सद्भावनापूर्ण हो सकता है, पर प्रधानमंत्री से दो सवाल हैं कि क्या शगुन केवल एक वर्ग विशेष संप्रदाय की बेटी के लिए ही है, देश की शेष बेटियां बेगानी क्यों? अगर शादी के लिए शगुन देना है तो कोई भी माता-पिता ऐसा नहीं करते कि एक बेटी को शगुन दें और दूसरी मुंह देखती रह जाए। कृपया सबके लिए यह सुविधा दी जाए।

दूसरा सवाल यह है कि क्या लड़कियों की जिंदगी में केवल शादी के लिए ही नोट चाहिए? पहले पंजाब सरकार पांच, ग्यारह और पंद्रह हजार रुपये के चक्कर में एक जाति विशेष की लड़कियों को सब्जबाग दिखाती रही और अब केंद्र से यह शुरू हो गया। अगर सचमुच देश की बेटियों को सशक्त बनाना है।

उन्होंने कहा कि अच्छी जिंदगी देनी है तो शादी के शगुन पर खर्च किया जाने वाला पैसा उन्हें शिक्षा के लिए दीजिए और जीवनभर के लिए स्वास्थ्य बीमा सर्टिफिकेट दीजिए। कभी भी बीमारी की हालत में वे अपना इलाज करवा सकें। स्वयं स्वस्थ रहें और परिवार को स्वस्थ रखें। सच्चाई यह है कि शगुन में दिया जाने वाला पैसा लड़कियों के हित में नहीं जाता, अधिकतर दुरुपयोग हो जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here